Categories
SOCIAL GOOD

कब और कैसे शुरू हुआ अंतराष्ट्रीय महिला दिवस

. वर्ष 2020 का कलर Purple एवं थीम है “I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights ” . यानि की वर्ष 2020 तक महिलायें इस न्यू जेनेरेशन में दुनिया के हर क्षेत्र में पुरूषों के मुकाबले में बराबर का योगदान दे रही हैं एवं अपनी अधिकारों का प्रयोग करने में बराबर की हिस्सेदारी अदा कर रही हैं.

 

आंतराष्ट्रीय महिला दिवस प्रत्येक वर्ष 8 मार्च को मनाया जाता है. यह दिवस किसी भी खास संगठन, या किसी भी विशेष क्षेत्र के द्वारा नहीं बल्कि विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। प्रत्येक वर्ष अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के लिए विशेष थीम एवं कलर चुना जाता है. वर्ष 2020 का कलर Purple एवं थीम है “I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights ” . यानि की वर्ष 2020 तक महिलायें इस न्यू जेनेरेशन में दुनिया के हर क्षेत्र में पुरूषों के मुकाबले में बराबर का योगदान दे रही हैं एवं अपनी अधिकारों का प्रयोग करने में बराबर की हिस्सेदारी अदा कर रही हैं.

नारी है तो कल है, क्योंकि एक नारी माँ, बहन, बेटी, बहु हर.रुप में अपने-आपको साबित करते हुए समाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाति है. बगैर नारी के इस दुनिया की कल्पना नहीं की जा सकती है. हमारा हिन्दु धर्म भी इसका गवाह है. नारी के अनेक रुप होते है. नारी कभी कमजोर नहीं होती, वो तो तो अपने परिवार की खुशियाँ के लिए खुद को भी समर्पित करने की क्षमता रखती है. नारी दुर्गा, नारी सरस्वती, नारी लक्ष्मी तो नारी खभी माँ, कभी बहन, कभी पत्नी का रुप अदा करती है,

प्रत्येक वर्ष अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का मुख्य मकसद ये होता है, कि महिलाओं के मान- सम्मान की रक्षा करना, उन्हें समाज-दुनिया के प्रत्येक क्षेत्र में बराबर की हिस्सेदारी प्रदान करना ताकि वें इस नयी दुनिया में हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ-साथ चलने के लिए खुद को गर्वान्वित महसुस कर सके और अपनी उपल्बधियाँ , अफनी काबिलियत को दुनिया के सामने जग-जाहिर कर सके. साथ ही साथ महिला दिवस हम सभी को यह संदेश देत है, कि समाज में हर पुरूष नारी जाति का सम्मान करे, उनके अधिकारों की रक्षा करेंं एवं उनके भवनाओं की कद्र करते हुए उनके हर एक सुख-दुःख में सहायता करते हुए उनहें अग्रसर होने में अपनी भूमिका अदा करे.

कब शुरू हुआ अंतराष्ट्रीय महिला दिवस -संक्षिप्त विवरण

 

सर्व प्रथम महिला दिवस दिनांक 28 फरवरी 1909 को अमेरिका की सोस्लिट पार्टी के द्वारा पार्टी के कार्यकर्ता Theresa Malkiel के सुुुझाव पर न्यूयार्क शहर राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया गया. तत्पश्चात जर्मन डेलिगेट  Clara Zetkin, Käte Duncker एवं अन्य सदस्ययोंं ने सन 1910 के मार्च मेें International Socialist Woman’s Conference किया गया जिसमें कि 17 देशों से कुल 100 महिलााांं ने अपनी भागिदारी दर्ज करायी और यह तय किया गया कि प्रत्येेेक वर्ष महिला दिवस राष्ट्रीय महिला दिवस के रुप में मनाया जाना चाहिए , और इस Conference में यह भी तय किया गयाा कि मताधिकार मेें महीलाओं की भागीदारी बराबर की होगी, लेकिन तब तक महिलाा दिवस मनाये जाने की तिथि निश्चित नहीं हुई थीी. इसके बााद 11 मार्च 1911 पहला IWD ऑस्ट्रिया, डेनमार्क और जर्मनी में आयोजित किया गया।

1917 में रूस की महिलाओं ने, महिला दिवस पर रोटी और कपड़े के लिये हड़ताल पर जाने का फैसला किया। यह हड़ताल भी ऐतिहासिक थी. रूस के ज़ार ने सत्ता छोड़ी, अन्तरिम सरकार ने महिलाओं को वोट देने के अधिकार दिया. उस समय रूस में जुलियन कैलेंडर चलता था और बाकी दुनिया में ग्रेगेरियन कैलेंडर. इन दोनों की तारीखों में कुछ अन्तर है. जुलियन कैलेंडर के मुताबिक 1917 की फरवरी का आखिरी इतवार 23 फ़रवरी को था जब की ग्रेगेरियन कैलैंडर के अनुसार उस दिन 8 मार्च थी. इस समय पूरी दुनिया में (यहां तक रूस में भी) ग्रेगेरियन कैलैंडर चलता है. इसी लिये 8 मार्च महिला दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी किया गया थीम

  
1996
Celebrating the Past, Planning for the Future
1997
Women and the Peace Table
1998
Women and Human Rights
1999
World Free of Violence Against Women
2000
Women Uniting for Peace
2001
Women and Peace: Women Managing Conflicts
2002
Afghan Women Today: Realities and Opportunities
2003
Gender Equality and the Millennium Development Goals
2004
Women and HIV/AIDS
2005
Gender Equality Beyond 2005; Building a More Secure Future
2006
Women in Decision-making
2007
Ending Impunity for Violence Against Women and Girls
2008
Investing in Women and Girls
2009
Women and Men United to End Violence Against Women and Girls
2010
Equal Rights, Equal Opportunities: Progress for All
2011
Equal Access to Education, Training, and Science and Technology: Pathway to Decent Work for Women
2012
Empower Rural Women, End Poverty and Hunger
2013
A Promise is a Promise: Time for Action to End Violence Against Women
2014
Equality for Women is Progress for All
2015
Empowering Women, Empowering Humanity: Picture it!
2016
Planet 50-50 by 2030: Step It Up for Gender Equality
2017
Women in the Changing World of Work: Planet 50-50 by 2030
2018
Time is Now: Rural and urban activists transforming women’s lives
2019
Think Equal, Build Smart, Innovate for Change
2020
“I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights ”
1996
अतीत का जश्न, भविष्य के लिए योजना
1997
महिलाओं और शांति तालिका
1998
महिला और मानवाधिकार
1999
महिलाओं के खिलाफ हिंसा से मुक्त विश्व
2000
शांति के लिए एकजुट महिलाएं
2001
महिला और शांति: महिला का संघर्ष प्रबंधन
2002
आज की अफगान महिला: वास्तविकता और अवसर
2003
लिंग समानता और सहस्राब्दी विकास लक्ष्य
2004
महिला और एचआईवी/एड्स
2005
2005 के आगे लिंग समानता; अधिक सुरक्षित भविष्य का निर्माण
2006
निर्णय-लेने में महिलायें
2007
महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को समाप्त करना
2008
महिला और लड़कियों में निवेश
2009
महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को समाप्त करने के लिए महिला और पुरुष एकजुट
2010
समान अधिकार, समान अवसर: सभी के लिए प्रगति
2011
शिक्षा, प्रशिक्षण एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी की समान पहुँच: महिलाओं के बेहतरी का मार्ग
2012
ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाना, गरीबी और भूखमरी का अंत
2013
वचन देना, एक वचन है: महिलाओं के खिलाफ हिंसा को समाप्त करने के लिए कार्रवाई का समय
2014
महिलाओं के लिए समानता, सभी के लिए प्रगति है
2015
महिला सशक्तीकरण, ही मानवता सशक्तीकरण: इसे कल्पना कीजिये!
2016
2030 तक, ग्रह में सभी 50-50: लैंगिक समानता के लिए आगे आये।
2017
कार्य की बदलती दुनिया में महिलाएं: 2030 तक, ग्रह में सभी 50-50
2018
अब समय है: महिलाओं और महिलाओं के जीवन को बदलने वाले ग्रामीण और शहरी कार्यकर्ता अब हैं: ग्रामीण और शहरी कार्यकर्ता महिलाओं के जीवन को बदल रहे हैं
2019
समान सोचें, बिल्ड स्मार्ट, बदलाव के लिए नया करें
2020
मैं जनरेशन इक्वेलिटी: महिलाओं के अधिकारों को महसूस कर रही हूं

hindibits
Author: hindibits

Advertisements

Leave your comment