Categories
NEWS

घर-घर जाकर दिल्ली वासियों का कोरोना की जाँच की जायेगी: अरविन्द केजरीवाल – जाने लोगों की प्रतिक्रिया..

कोरोना का पहला ईलाज है कि लोगों का कोरोना का जाँच सही ढंग से हो । ताकि पता चले कि कौन-कौन.व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है और ईसकी जाँच सही ढंग से नही हो पा रही है। उन्होने कहा कि यह मालूम करना जरूरी है, कि कौन – कौन सा घर कोरोना संक्रमित है, इसकी पहचान करन बहुत ही आवश्यक है।

दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा – कि कोरोना का पहला ईलाज है कि लोगों का कोरोना का जाँच सही ढंग से हो । ताकि पता चले कि कौन-कौन.व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है और ईसकी जाँच सही ढंग से नही हो पा रही है। उन्होने कहा कि यह मालूम करना जरूरी है, कि कौन – कौन सा घर कोरोना संक्रमित है, इसकी पहचान करन बहुत ही आवश्यक है।

अरविंद केजरीवाल

इसके लिए वो साउथ कोरिया की भाँति बड़े पैमाने पर जाँच करने का आदेश दिल्ली सरकार को दिये है, ताकि प्रत्येक घर-घर जाकर उस घर में रहने वाले घर के सभी सदस्यों की जाँच की जायेगी जिससे ये मालूम चलेगा कि कोरोना संक्रमित है, जिससे उन्हें अलग क्वारंटाईन/आईसोलेशन में रखने में आसानी होगी और संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा।

जाने लोगों की प्रतिक्रिया

जब दिल्ली के मुख्य मंत्री ने यह बयान दिया कि दिल्ली में अब साउथ कोरिया की भाँति घर-घर जाकर बड़े पैमाने पर लोगों का कोरोना जाँच की जायेगी ताकि कोई भी व्यक्ति जाँच में छूटने न पाये तो लोगों ने कुछ इस तरह से आपनी प्रतिक्रिया जाहीर की।

किसी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल केजरीवाल तब्लीगी जमातों के रक्षक हैं , तो किसी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल मौलाना साद को ₹ 40000 प्रति माह वेतन देते हैं।

किसी ने कहा कि गरीबों को दिल्ली सरकार कोरोना पीड़ित के नाम पर कीड़े वाला खाना खिला रही है और इसका एक विडियो भी जारी किया है, जिसमें खाने के अंदर कीड़ा स्पस्ट रुप से दिखाई दे रहे हैं । देखें वह विडियो।

Advertisements

Leave your comment