Blog क्या होता है ? Blogging कैसे करें ? Blogging करने के फायदे ?

Advertisements

नमस्कार दोस्तो। सबसे पहले hindibits.com पर आपका हार्दिक अभिनंदन है। इस लेख में हम यह जानेेंगे कि Blog क्या होता है ? Blogging कैसे करें ? Blogging करने के फायदे क्या हैं ?

Blog क्या होता है ?

Blog क्या होता है ? यह एक प्रकार का website होता है जो इंटरनेेट के माध्यम से संचालित होता है। Blog एक तरह से डिजिटल डायरी होता है , जिसपे blogger अपनी हॉबी या किसी चीज के बारे में जानकारी लिखता है और शेयर करता है। सबसे खास बात यह है, कि ब्लॉग पर किये जाने वाले पोस्ट एक आम बोल-चाल की भाषा की तरह होता है, चाहे वह blogpost किसी भी भाषा में क्योंं न हो।

Blog शब्द Weblog का संक्षिप्त रुप है। अंग्रेजी के दो शब्द web (website) और Log को मिलाकर Weblog बनता है, जिसे संक्षिप्त में blog कहा जाता है। कोई भी ब्लॉग by default ‘Chronological reverse order’s के सिद्धांत पर कार्य करता है । यानि कि blogger द्वारा किया गया latest blogpost सबसे अपर में दिखाई देता है और पुराने posts उसके नीचे-नीचे रहते हैं।

दुनिया का पहला आधुनिक ब्लॉग Links.net का इस्तेमाल Pennsylvania Swarthmore College के Justin Hall नामक एक छात्र ने वर्ष 1994 मेें अपने लिखनेे के लिए किया था। आप मेरे इस पोस्ट को hindibits.com पर पढ़ रहे हैं तो यह hindibits.com एक ब्लॉग ही है। अब आप समझ चुके होंगेे कि Blog क्या होता है। तो चलिये अब जानते हैं कि Blog कितने प्रकार केे होते हैं ?

Types of Blog – ब्लॉगस के प्रकार

Blogs कितने प्रकार के होते हैं ? यूँ तो ब्लॉगस कितने के होते हैं यह निश्चचित नहींं है, लेेेकिन फिर भी उपयोगिता के आधार पर हम ब्लॉगस को निम्नलिखित श्रेणियों में विभाजित कर सकतेे हैैं।

Micro blog –

Micro blog ऐसे ब्लॉग को कहते हैं जो किसी खास एक ही niche को लेकर बनाया जाता है। e.g – Twitter, Tumbler, Reddit, Twister etc.

Personal blog

ऐसा ब्लॉग जो किसी एक ही व्यक्ति द्वारा संचालित किया जाता हो, जिस पर किसी एक ही व्यक्ति विशेष या blogger के द्वारा blogposts किये जाते हों उसे personal blog कहा जाता है। ऐसे ब्लॉग का इस्तेमाल blogger के द्वारा अपनी निजी जानकारी को शेयर करने के उद्देश्य से करते हैं। ककुछ personal blogger सिर्फ अपनी नॉलेज को शेयर करने, या फिर कुछ ब्लागर को डेली कुछ न कुछ लिखने की आदत होती है उस मकसद से bogging करते हैं। जिनका उद्देश्य सिर्फ नई-नई जानकारियों को लिख दुनिया को शेयर करना होता है न कि पैसा कमाना वहीं दूसरी तरफ अधिकांशतः blogger 90% bloggers अपने blog का इस्तेमाल पैसा कमाने के लिए करते हैं।

Professional blog

ऐसे ब्लॉगस जो किसी प्रोफेसन (profession) के लिए उपयोग किये जायें चाहे वह प्रोफेसन कुछ भी हो, एक बिजनेस के तौर पर या फिर एक कंपनी के तौर पर या फिर blog के जरिये अपनी नये-नये रिसर्च को शेयर करने का हो या फिर ब्लॉग को ही अपना प्रोफेशन मानते हुए इससे कमाने की चाह करते हुए नये-नये posts को लिखना और दुनिया के सामने शेयर करना । ये सब प्रोफेशनल ब्लॉग के अंतर्गत आते हैं।

Community blog

जैसे कि नाम से ही लग रहा है, कि इस तरह के ब्लॉग से निश्चित ही बहुत सारे लोग जुड़े रहते हैं। ऐसे ब्लॉग में हजारों से लेकर लाखों – करोड़ों लोग जुड़े रहते हैं और ये सभी जुड़े हुए लोग उस ब्लॉग में अपना-अपना account creat कर अपना अलग प्रोफाईल बनाकर पोस्ट करते हैं। e.g- Facebook, Twitter, Tumbler, Instagram ये सभी community blog के उदाहरण हैं।

News blog

न्यूज ब्लॉग तो आप समझ ही रहे होंगे कि जिस ब्लॉग पर डेली नये-नये न्यूज प्रकाशित किया जाता है वह न्यूज ब्लॉग कहलाता है। इस तरह के ब्लॉग में भी सदस्यों की संख्या 5 लेकर 20-25 या और भी ज्यादा 100 भी हो सकती है। e.g- http://www.aajtak.com, http://www.indiatoday.com, http://www.zeenews.com, http://www.newstrends.com, etc.

Difference between Professional blog and Personal blog – प्रोफेशनल ब्लॉग और पर्सनल ब्लॉग में अंतर

जैसे कि professional blog और personal blog का जिक्र पहले कर चुके हैं। उदाहरण के लिए मान लें कोई कम्पनी अपने बिजनेस के प्रचार-प्रसार के लिए एक ब्लॉग https://xyz.com का इस्तेमाल करती है तो यह https://xyz.com को professional blog या फिर business blog कह सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ अगर कोई Mr.Bond नाम का व्यक्ति अगर एक ब्लॉग https://mrbond.com का उपयोग सिर्फ अपने हॉबी से जुड़ी जानकारी लिखकर शेयर करता है या फिर कोई अन्य जानकारी अपने शौक के लिए ब्लॉग के माध्यम से शेयर करता है, तो ब्लॉग https://mrbond.com एक personal blog कहलायेगा। वहीं अगर Mr. Bond अगर blogging को ही अपना कैरियर एवं प्रोफेसन मानते हुए blogging करते हैं ,अपने ब्लॉग पर digital या physical चीजें बेचते हैं और अपने ब्लॉग से एक अच्छी-खासी रकम की कमाई करते हैं तो ब्लॉग https://mrbond.com एक professional blog कहा जायेगा। दुसरी मुख्य बात कि एक personal blog सिर्फ और सिर्फ एक ही व्यक्ति द्वारा संचालित किया जाता है। जबकि एक professional या business blog में एक या उससे अधिक लोग मेम्बर हो सकते हैं।

Blogpost क्या है ?

जब भी बात ब्लॉग की आती है तो blogpost भी साथ-साथ आता है। तो ये blogpost आखिर होता क्या है ? जब भी कोई blogger अपनी हॉबी, न्यूज, किसी चीज के बारे में कुछ भी लिखकर अपने ब्लॉग पर प्रकाशित करता है यानी कि पोस्ट करता है तो वह पोस्ट blogpost कहलाता है।

Blogger और Blogging किसे कहते हैं ?

Blogger – किसी भी blog पर कोई लेख या टॉपिक पोस्ट लिखकर पब्लिश करता हैै तो उस पोस्ट को blogpost को लिखने वाला या पब्लिश करनेे वाला blogger कहलाता है।

Blogging क्या है ?

Blogging क्या है ? Blogging एक प्रक्रिया है जिसमें ब्लॉगर अपने ब्लॉग के लिए contents लिखता है और फिर उसे ब्लॉग पर प्रकाशित करता है। या कोई ब्लॉगर किसी image को edit कर अपने ब्लॉग पर post करता है। अपने ब्लॉग के डिजाईन को एक अच्छा लुक देना, ब्लॉग के मेनू को सेट करना, पेज को कस्टोमाईज करना यानी की ब्लॉग संबंधित जितना भी प्रोसेस किया जाता है सब ब्लॉगिंग के अंतर्गत आता है।

दोस्तों अभी तक आप यह जान चुके होंगे कि Blog क्या होता है ? या ब्लॉग किसे कहते हैं । ब्लॉग कितने प्रकार के होतेे हैंं, blogpost किसे कहते हैैं ? Blogger किसे कहते हैं और Blogging क्या होता है ? तो अब हम आगे बढ़ते हैं और यह जानते हैं कि Blogging कैसे करें ?

Blogging कैसे करें ?

Blogging कैसे करें – अब तक तो आप यह जान ही चुके हैं कि Blogging करने के लिए एक ब्लॉग का होना अनिवार्य होता है।

अगर आप भी ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो कुछ जरुरी बाते हैं जिन्हें follow करना एक ब्लॉगर के लिए बहुत ही जरुरी है। तो चलें अब हम जानते हैं कि ब्लॉगिंग कैसे करें

Blogging की शुरूआत करने के लिए यह बहुत जरुरी है, कि आप जिस टॉपिक पर लिखना चाहते हैं उसके बारे में आपको विस्तृत जानकारी होनी चाहिए ताकि आप उस विषय या टॉपिक के बारे में लिखी हुई जानकारी आपके पाठकों को पसंद आ सके।

दूसरों का ब्लॉग पढ़ें- किस भी subject पर लिखनेे से पहले उस subject या टॉपिक के बारे में अन्य bloggers द्वारा लिखे गये अलग-अलग blogposts को पढ़ें एवं समझे। कम से कम एक टॉपिक के लिए चार-पाँच blogs पढ़ें।

Copy न करें – दूसरों द्वारा लिखे गये blogposts को Copy-paste न करें न ही नकल करके लिखें। किसी भी blogpost के लिए अपना खुद का बनाये हुए वाक्यों का इस्तेमाल करें । कोई भी बात अपने खुद के तरीके से लिखें। ऐसा करने से आपके ब्लॉग को अपनी एक अलग पहचान मिलेगी। अगर आप दूूसरों के blogposts को copy-paste या नकल करके लिखते हैं तो google, bing और अन्य सर्च ईंजन इस बात को आसानी से समझ जाते हैं कि आपने दूसरोंं के blogpost का नकल किया है ऐसे में आपके ब्लॉग पर traffic नहीं आते और आपका ब्लॉग monetize नहीं हो पायेगा। Blog कैसे monetize करें ?– नया पोस्ट जल्द आ रहा हैै।

Unique contet डालें – अगर आप चाहते हैैं कि आपके द्वारा लिखे गयेे blogposts को ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें और blog traffic ज्यादा मिले तो आपको अपने ब्लॉग पर औरों से हटकर अलग contents डालने होंगें। ऐसा करना आपके ब्लॉग monetization के आवश्यक एवं फायदेमंद है।

Blogging कैसे करें के इस टॉपिक में अभी तक आपने यह जाना कि एक अच्छे ब्लॉगिंंग के लिए किन- किन बातोंं का ख्याल रखना चाहिए। Blogging से जुड़ी ये सभी बातें जो अभी आप उपर पढ़ चुके हैैं आपको अन्य किसी ब्लॉग पर पढ़ने को शायद न मिले। तो अब जानते हैंं कि Blogging की शुरूआत करने के लिए पहले क्या-क्या आवश्यक है।

Blog niche का चुनाव करें

ब्लॉग बनाने से पहले blog niche का चुनाव करना अति आवश्यक है, ताकि लोगों को यह पता चल सके कि आपके ब्लॉग पर किस -किस विषय से संबंधित जानकारी पाठकों को मिलेगी। जैसे मेरे इस के niches हैं health, Make Money और आपको इन सभी niches से जुड़ी जानकारीयाँ इस ब्लॉग पर पढ़ सकते हैं।

Blog name का चुनाव करें

Niches का चुनाव करने के बाद आपको अपने ब्लॉग का नाम क्या रखना है यह आप पर निर्भर करता है। वैसे तो blog name का traffic से कुछ भी लेना-देना नहीं होता है। परंतु आपके द्वारा selected niches के अनुकुल अगर blog name है तो जरुर ही लोंगों को आपके ब्लॉग के तरफ खींचता है जिससे कि आपके ब्लॉग पर traffic की संख्या बढ़ती है। अतः ब्लॉग शुरु करने से पहले blog name का चुनाव सही से करें।

Blog name को डोमेन के साथ register करें।

नया ब्लॉग बनाने या शुरू करने से पहले आपको अपने blog name को डोमेन होस्टर के साथ रजिस्टर करना आवश्यक है। तभी आपका ब्लॉग online search किया जा सकता है। इसके लिए आप Godaddy, Bluehost, HostGator, Namecheap, DreamHost, SiteGround, Blogger Cloud flare, इनमें से किसी के साथ भी अपने blog name यानी URL को register कर सकते हैं और अपने पसंद के हिसाब से URL के साथ .com, .in, .net, .org, .cloud का चुनाव कर सकते हैं और आप ब्लॉग के लिए https:://my blog.com या https://my blog.in, या myblog.blog या myblog.net जैसे URL का चुनाव कर सकते हैं

Web hosting करें

Web hosting क्या है ? जब आप सफलता पूर्वक अपने ब्लॉग के लिए URL का registration कर देते हैं तो इसके बाद आपको अपने Blog URL को किसी webhoster पर उसे hosting करना होता है इसे webhosting कहते हैं।

उदाहरण के लिए मान लीजिये कि आपने अपने नये ब्लॉग के लिए http://www.myblog.com नामक URL को Godaddy.com पर रजिस्टर करा दिया। इसके बाद आपको अपने इस रजिस्टर्ड URL को wordpress पर या cloud flare पर या wix.com पर या amazon web service पर या किसी अन्य वेबहोस्टर के साथ host करना पड़ेगा। इसके बाद ही आप अपने इस ब्लॉग http://www.myblog.com को इंटरनेट के जरिये access कर सकते हैं।

Blog को customize करें

इसके बाद आप अपने जरुरत के हिसाब से ब्लॉग के लिए theme का चुनाव करें और अपने ब्लॉग के मेन्यू, पेज, कटेगरी का चुनाव करें और blog को SEO करें। फिर आप अपने ब्लाग पर अपने पर ब्लॉग पोस्ट करना शुरू कर दें।

Blogging करने के फायदे क्या हैं ?

अभी तक आपने जाना कि Blog क्या होता है ? Blogging कैसे करें ? अब आपको बताते हैंं कि Blogging करने के फायदे क्या हैं ? या लोग blogging क्यों करते हैंं ?

  1. 1. ब्लॉगिंग करना कुछ लोगों का शौक होता है, वो अपनी हॉबी से जुड़ी हुई बातों की जानकारी लिखना एवं शेयर करना पसंद करते हैं
  2. 2. कुछ लोग ब्लॉगिंग पैसा कमाने के उद्देश्य से करते हैं । ब्लॉगिंग एक ऐसा चीज है, जिसके द्वारा दुनिया में लाखों प्रोफेशनल ब्लॉगर हैं जो महीने में लाखों -करोड़ों रुपये कमा लेते हैं।
  3. 3. कुछ ब्लॉगर अपना नाम एवं शोहरत कमाने के उद्देश्य से ब्लॉगिंग करते हैं।
  4. 4. कुछ कम्पनियाँ अपने प्रोडक्टस को बेचने एवं बिजनेस को बढ़ाने के लिए ब्लॉगिंग का इस्तेमाल करती हैं।
  5. 5. कुछ लोग जब अपने बिजनेस की शुरूआत करते हैं और उनका बिजनेस सेट-अप बिल्कुल नया-नया होता है तो वो ब्लॉगिंग का सहारा लेते हैं ताकि उनके बिजनेस के बारे में लोगों को मालूम हो सके।

6. Blogging के माध्यम से लोग education centre जैसे कि स्कूल, कोचिंग क्लासेस, ऑनलाईन ट्यूशन , नये-नये तनीक से जुड़े पाठ्यक्रम का संचालन इत्यादि ब्लॉगिंग के द्वारा करते हैं।

7. सबसे बड़ी बात कि प्रोफेशनल ब्लॉगर ब्लॉगिंग करके एक अच्छी खासी रकम की कमाई कर लेते हैं, लेकिन देखने वाली बात यह है, कि एक ब्लॉगर अपनी मर्जी से अपना समय ब्लॉगिंग करने में लगाता है वह किसी बॉस के अंधीन कार्य नहीं करता। एक ब्लॉगर अपना बॉस खुद ही होता है एवं वह अपनी मर्जी का मालिक होता है। वह अपने समय से अपना हर कार्य करता है एवं एक अच्छी लाईफस्टाइल जीता है।

कुल मिलाकर कहा जाये तो ब्लॉगिंग की दुनिया ऐसी है, कि इसके द्वारा व्यक्ति बहुत ही कम लागत में ही अपने विवेक और जानकारी के बल-बूते ब्लॉगिंग की दुनिया में सफलता प्राप्त कर लेते हैं तो उनके नाम, शोहरत, इज्जत एवं पैसा कमाने का जरिया बन जाता है। ब्लॉगिंग के माध्यम से अनेको ब्लॉगर शोहरत की बुलंदियों को छू रहे हैं एवं अपना lifestyle अपने तरीके से जी रहे हैं।

Conclusion :-

दोस्तों आशा करता हूँ कि Blog क्या होता है, Blogging कैसे करें एवं Blogging करने के फायदे क्या हैं ये सारी बेसिक जानकारियाँ आपको मेेरे इस ब्लॉग पोस्ट के जरिये आपको मिल गयी होगींं। आशा करता हूँँ कि आपको मेरा यह पोस्ट पसंद आया होगा। अगर यह पोस्ट आपको पसंंद आया हो तो कृृृप्या इसे लाईक एवं दोस्तों के साथ शेयर करेें ताकि ब्लॉग एवं ब्लॉगिंग संंबंधित जानकारी अन्य लोगोंं को भी मिल सके। यह पोस्ट आपको कैैसा लगा आप बेहिचक कमेंट बॉक्स मेेंं अपना कमेंट कर हमें बता सकते हैं।

Advertisements

Feed your comment.