Categories
VIRAL NEWS - Analysis

रुह काँप जायेगी दो डॉक्टरस की बात-चीत सुनकर_महाराष्ट्र में हालात हुए काफी खराब.

रुह काँप जायेगी दो डॉक्टरस की बात-चीत सुनकर_महाराष्ट्र में हालात हुए काफी खराब.

Advertisements

Corona का प्रकोप अब भारत में दिन ब दिन बढ़ते जा रहा है, भारत एक घनी आबादी वाला विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है, तो डर इस बात का है कि आखिर होगा क्या ? सबके दिल में डर बना हुआ है. सबसे ज्यादा मामले केरल में थे. लेकिन अब महाराष्ट्र की बात की जाये तो, महाराष्ठ्र में कोरोना से ग्रसित लोगों की संख्या इस कदर बढ़ती जा रही है, कि जानकर आपकी रुह काँप जायेगी. लोगों की स्थिति खराब होती जा रही है. महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री श्री उध्वठाकरे ने पहले ही महाराष्ट्र को लौक कर रखा है, यानी की महाराष्ट्र में कोई भी बाहरी न आयेगा और न ही जायेगा. लेकिन अब स्थिति ऐसी हो गयी है, कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने जिलोंं को लौक करने का आदेश दे दिया है. कारण कि महाराष्ठ्र के दो जिले खासकर पुने और नागपुर की स्थिति अब काफी खराब हो चली हैै. महाराट्र सरकार ने महाराष्ट्र के चार जिलों मुम्बई, पुुने, नागपुर एवं नाासिक फिलहाल सिल हो चुके है, एवं कल यानी कि 29 मार्च से महाराष्ट्र के बाकी जिले भी सिल कर दिये जायेंगे. आपको बताते चले कि अकेले सिर्फ नागपुर में CORONA के 200 संदिग्धों में से 59 positive case पाये गये है जो कि अपने-आप में बेेेहद संवेदनशील जानकााारी है. इस बात की पुष्टी मुम्बई के किसी Clinic से जााँच करने के बाद ज्ञात हुआ. महाराष्ट्र में अबतक Coronavirus के कारण कई मौतें भी हो चुकी हैं जिनका आंकड़ा का खुलासा अभी तक अधिकारिक तौर पर नहीं किया गया है.

Advertisements

विदेश से आयेगी डॉक्टरस की टीम CORONA के जाँच के लिए.

भारत के अधिकांश शहरों के टेस्ट लैब Coronaviruses के जांच के लिए उपयुक्त नहीं है, पहला कारण है कि विकसित तकनिकि की कमी और दूसरा सक्षम डॉक्टरस की कमी. अगर सही कहा जाये तो Mumbai , Pune, Banglore Chennai को छोडंकर अधिकांश जगहों के लैब में कौरोना जांँच की सुविधा उतनी अच्छी नहीं है जिसके वजह से जाँच निगेटिव आते हैं एवं बाद में पता चलता है, कि पौजिटिव है. जिसके कारण सही समय पर ईलाज नहीं हो पाता है. Maharashtra Medical Association ने महाराष्ट्र सरकार की सहमति से Swedan से 6 डॉक्टरस की टीम को रिक्रुट करने का निर्णय लिया है, जो कि नागपुर में आकर भारतीय डॉक्टरस के साथ मिलकर कोरोना संदिग्धों की जाँच करेंगे, क्योंकि कोरोना टेस्ट के लिए शुरूआति दौर में जाँच के लिए गहरी जानकारी का होना जरुरी होता है, जिससे कि शुरूआती दौर में ही संक्रमण का पता चल सके.

सम्पूर्ण जानकारी के लिए सुनें महाराष्ट्र के दो दोस्त डॉक्टरस के बीच का बात-चीत का ऑडियो पोडकास्ट.

conversation between two doctors of Maharashtra.

 

Leave your comment